विज्ञापन होर्डिंग के लिए रेलवे विभाग ने ली कई पेड़ों की बलि

प्रदर्शन: डायरेक्टर की गिरफ़्तारी की मांग को लेकर  गांवदरिया के सरपंच हैप्पी की अगुआई में रेलवे विभाग के डायरेक्टर के कार्यालय के सामने धरना-प्रदर्शन किया

0
190

चंडीगढ़

17 दिसंबर 2018

दिव्या आज़ाद

सिटी ब्यूटीफुल के नाम से विख्यात चंडीगढ़ के रेलवे स्टेशन के एंट्री प्वाइंट के साथ लगे लगभग 25 पेड़ों को रेलवे विभाग ने प्रलोभन में आकर बलि दे दी है। इन पेड़ों को विज्ञापन होर्डिंग की कमाई के नाम पर उखाड़ा और काटा गया है। इससे रेलवे स्टेशन की सुंदरता पर दाग लगा है। रेलवे स्टेशन को हरा भरा रखने के लिए दरिया पंचायत तथा चंडीगढ़ की विभिन्न संस्थाएं समय-समय पर पौधारोपण करती रहती है। पेड़ों को काटे जाने का संज्ञान लेते हुए रेलवे स्टेशन के पास के गांव दरिया के सरपंच गुरप्रीत सिंह हैप्पी ने सभी पंचों सहित रेलवे विभाग के डायरेक्टर के कार्यालय के सामने धरना दिया है। उन्होंने रेलवे स्टेशन की ऐसी कार्यवाही की भर्त्सना की है।

हैप्पी ने बताया कि जब वे सुबह सैर कर रहे थे तो उन्होंने देखा कि जगह-जगह से पेड़ उखाड़े गए हैं जिसके कारण वहां पर गड्ढे हो चुके थे। उन्होंने पेड़ों से भरी ट्राली को देखा। छोटे पेड़ों को लोगों की सहायता से लगा दिया गया है। परंतु कई बड़े पेड़ तने से अलग किए गए हैं जिन्हें पुनः लगाना मुश्किल है। हैप्पी ने बताया कि इन पेड़ों में फल तथा छायादार दोनों शामिल हैं। हैप्पी ने रेलवे विभाग के दोषी अधिकारियों के विरुद्ध जीआरपी थाना रेलवे स्टेशन में एफआईआर दर्ज करवा दी है। काफी संख्या में धरने पर बैठे लोगों ने दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही किए जाने की मांग कीी हैै। डायरेक्टर हरदीप कुमार भी मौके पर पहुंचे उन्होंने लोगों तथा पत्रकारों की उपस्थिति में माना कि विज्ञापन होर्डिंग के लिए इन पेड़ों की छंटाई के लिए तथा अन्य छोटे पेड़ों को एक स्थान से दूसरे उचित स्थान पर लगाए जाने की हिदायत ठेकेदार को दी थी परंतु शनिवार और रविवार की छुट्टी होने के कारण ठेकेदार के परिंदों ने छोटे पेड़ों को जड़ों से उखाड़ दिया तथा अन्य तने से अलग कर दिए। उन्होंने धरने पर बैठे लोगों को आश्वासन दिलाया कि उक्त ठेकेदार के विरुद्ध कार्रवाई किए जाने के लिए एफआईआर दर्ज करवा दी गई है। वहीं सूत्रों का कहना है कि यह सब पेड़ काटने का घिनौना खेल डायरेक्टर की देखरेख में खेला गया है। गांव वासियों का गुस्सा यहीं नहीं थमा है उन्होने पेड़ों को काटे जाने का दोषी प्रत्यक्ष रूप से डायरेक्टर को माना है। उन्होंने कहा कि कैसे एक जिम्मेदार अधिकारी के होते हुए प्रलोभन में आकर इन पेड़ों को काटने की अनुमति दे दी गई। भाजपा मंडल के प्रधान चमन लाल ने भी कहा कि यदि दोषियों पर तुरंत कार्रवाई नहीं की गई तो सब लोग अपना धरना ट्रैक पर ले जायेंगे। रेलवे विभाग तथा जीआरपी द्वारा दोषियों के खिलाफ अब तक कोई भी कार्यवाही नहीं हुई है। धरने पर विशेष रूप से बलवंत सिंह सैनी, भूपेंद्र सिंह, संदीप लवली, गुरदीप सिंह, ओमप्रकाश, पंच रोशन लाल, कांग्रेस महासचिव शाशिशंकर तिवारी, भाजपा मंडल प्रधान चमन लाल व डी पी दुबे, बलिहार आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.