फैशन की दुनिया में धाक ज़माने के बाद बिट्टू फैशनर्स उतरे बेकरी क्षेत्र में

बिट्टू बेकरी नाम से खोला मोहाली में आउटलेट, हर जगह जाती है सप्लाई

0
560

मोहाली
1 फरवरी 2021
दिव्या आज़ाद

फैशन की दुनिया में बिट्टू फैशनर्स एक जाना माना नाम है जिसको किसी पहचान की जरुरत नहीं। चंडीगढ़ व आसपास के सभी इलाकों में ब्राइडल व शादी के गुणवत्ता सामान के लिए सबसे पहली पसंद बिट्टू फैशनर्स ही रहा है। लेकिन कोरोना ने सबके काम पर ऐसा असर डाला की उससे उभरने के लिए सभी को कुछ नया सोचना पड़ा। कोरोना के प्रभाव से बिट्टू फैशनर्स भी अछूता नहीं रहा। उनके काम पर भी ऐसा असर पड़ा की उन्हें भी नए तरीके अपनाने पड़े।

मार्किट में कपड़ों की डिमांड में कमी आने को देखते हुए बिट्टू फैशनर्स के मालिक जसबीर (बिट्टू) ने एक नया बिज़नेस शुरू करने का सोचा। उन्होंने 3 महीने पहले मोहाली के सेक्टर-82 में बिट्टू बेकरी की शुरुआत की है। एक ख़ास बातचीत में बिट्टू फैशनर्स व बेकरी के मालिक जसबीर (बिट्टू) ने बताया कि कोरोना के कारण मार्किट में बदलाव आया है। लोग कपड़े व फैशन पर पहले जितना खर्च नहीं कर रहे हैं। इसलिए हमने ऐसा काम शुरू करने का सोचा जिसकी अभी भी बहुत डिमांड हो। खाने कि डिमांड को देखते हुए हमने बिट्टू बेकरी कि शुरुआत की।

जसबीर ने बताया कि बेकरी में फिलहाल बिस्कुट और रस से प्रांरभ किया गया है। लेकिन 3 महीने में ही इतनी ज़्यादा डिमांड आ रही है कि अभी से ही स्टॉक कम पड़ने लगा है। हम चंडीगढ़, पंचकूला व मोहाली के साथ-साथ आसपास के शहरों में सप्लाई भी करते हैं। उन्होंने बताया कि लोगों को हमारे बिस्कुट और रस बेहद पसंद आ रहे हैं। हम जल्दी ही बेकरी में अन्य आइटम्स भी पेश करेंगे।

कोरोना के कारण लोगों की सोच में आया परिवर्तन

जसबीर ने ख़ास बातचीत के दौरान बताया कि कोरोना के बाद से लोगों कि सोच में बहुत परिवर्तन आया है जहां पहले शादी का बजट 50 लाख होता था, वहीं अब वह बजट 10 या 20 लाख रह गया है। दुल्हन जहां पहले 70-80 हज़ार का लेहंगा खरीदती थी, वहीं अब 20 से 30 हज़ार का ही लेहंगा खरीदने लगी है। इस प्रकार ही शादी वाले परिवार व रिश्तेदारों की शॉपिंग में भी फर्क आया है।

कैसे हुई थी बिट्टू फैशनर्स की शुरुआत

जसबीर ने बताया कि 1965 में उनके पिता स्वर्गीय जगत सिंह जी ने चंडीगढ़ सेक्टर-19 की रेहड़ी मार्किट में बिट्टू फैशनर्स की शुरुआत की थी। जसबीर (बिट्टू) 12 वर्ष की उम्र से ही अपने पिता के साथ काम करने लग गए थे। 1984 में बहुत सी दुकानें तोड़ दी गयी थी जिसके कारण उनके पिता ने बाद में रेहड़ी-फड़ी पर अपने काम को जारी रखा। कुछ 30 वर्ष पहले उन्हें पालिका बाजार में एक दुकान मिली जो आज भी बिट्टू फैशनर्स की सेक्टर-19 ब्रांच के नाम से मशहूर है। 5 वर्ष पहले बिट्टू फैशनर्स सेक्टर-26 शुरू किया गया था, जो मध्य मार्ग पर होने के कारण आज मैन ब्रांच बन गया है।

क्यों है बिट्टू फैशनर्स सबसे अलग

बिट्टू फैशनर्स मार्किट में बाकी सबसे अलग इसलिए है क्यूंकि जो डिज़ाइन मार्किट में आये नहीं होते वो 1 महीना पहले ही बिट्टू फैशनर्स सेल करना शुरू कर देता है। बिट्टू फैशनर्स के पास एक्सक्लूसिव रेंज मिलती है। इसके साथ ही बिट्टू फैशनर्स पर किराये पर 3 दिन के लिए ब्राइडल लेहंगा, ब्राइडल ज्वेलरी, शेरवानी, पगड़ी, पार्टी वियर फॉर मेन एंड वुमेन आदि दिया जाता है। यह उनको बाकी सबसे अलग बनता है क्यूंकि इनकी प्राइस रेंज काफी किफायती है जिसे हर कोई ले सकता है। किराये पर लिए जाने वाली चीज़ों की रेंज 4,000 रूपए से शुरू होकर 50,000 रूपए तक जाती है।

रेडीमेड की दुनिया में भी उतरा बिट्टू फैशनर्स

बिट्टू फैशनर्स ने अब रेडीमेड कपड़ों की लाइन में भी एंट्री कर ली है। यहां रेडीमेड में सूट, कुर्ते, गाउन आदि उपलब्ध हैं। जसबीर ने बताया कि रेडीमेड की डिमांड को देखते हुए हमने फैंसला किया कि हमें ग्राहकों की जरुरत के हिसाब से स्टॉक रखना चाहिए।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.