राधा-कृष्ण के अन्नय प्रेम से मुग्ध हुआ रॉक गार्डन

0
1234
चंडीगढ़
8 अप्रैल 2017
दिव्या आज़ाद
प्राचीन कला केन्द्र देश की विभिन्न शास्त्रीय कलाओं के प्रचार,प्रसार में सदैव अग्रणी रहा है और केन्द्र भारतीय कलाओं के संरक्षण और विकास का अद्भुत कार्य भी सफलतापूर्वक कर रहा है। केन्द्र में हर वर्प तीन लाख से अधिक विद्यार्थी नृत्य एवं संगीत की षिक्षा ग्रहण करते है। अपने नन्हें कलाकारों को मंच प्रदान करके केन्द्र अपने विद्यार्थियों का विकास करने हेतु सदैव प्रयासरत है। इसी के तहत रॉक गार्डन सोसाइटी की ओर से आयोजित संगीत के विषेप कार्यक्रम में केन्द्र की विषिप्ट लैक्चरार और विख्यात कत्थक नृत्यांगना डॉ.समीरा कौसर के षिप्यों ने एक विषेप नृत्य नाटिका की खूबसूरत प्रस्तुति देकर चंडीगढ़ के संगीत प्रेमियों का मन मोह लिया। इस कार्यक्रम का आयोजन रॉक गार्डन में हुआ। इस कार्यक्रम में ग्रह सचिव श्री अनुराग अग्रवाल ने मुख्य अतिथि के रूप में षिरकत की।
 इस कार्यक्रम में डॉ.समीरा द्वारा रचित एवं निर्देषित इस नृत्य नाटिका को 5 से 50 वर्प तक के कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किया गया। इस कार्यक्रम में राधा-कृप्ण की अनूठी एवं सुंदर प्रेम कहानी के कुछ अंषों को कत्थक नृत्य के माध्यम से पेष किया गया। इस कार्यक्रम में कत्थक नृत्य के तकनीकी पक्ष के साथ-साथ भावपक्ष को भी बहुत खूबसूरती से प्रस्तुत किया गया। इस नृत्य नाटिका में राधा-कृप्ण के अन्नय प्रेम को दर्षाया गया और उनके खट्टे -मीठे मार्मिक प्रेम को नृत्य के माध्यम से प्रस्तुतिकरण करके डॉ.समीरा कौसर एवं उनके षिप्यों ने दर्षकों की खूब तालियां बटोरी।
कार्यक्रम का आरंभ षुद्ध कत्थक नृत्य से हुआ । जिसमें तोड़े,टुकड़े,परन,गतों का सुंदर प्रदर्षन किया गया। राधा की उम्र के विभिन्न पढ़ावों और हर  पढ़ाव में कृप्ण के साथ उनके अन्नय प्रेम को भावपूर्ण तरीके से प्रस्तुत किया गया। इस नृत्य में कुछ सुंदर बंदिषों के माध्यम से भी राधा-कृप्ण के प्रेम का वर्णन करके कलाकारों ने खूब तालियां बटोरी।  इसके पष्चात राधा-कृप्ण के विरह को भी बहुत मार्मिक रूप से नृत्य के माध्यम से दर्षाया गया। नृत्यांगनाओं की नृत्य के भाव एवं तकनीकी अंग पर पकड़ को दर्षकों ने खूब सराहा। राधा गोबिंद के कीर्तन से इस नृत्य कार्यक्रम का जोरदार समापन हुआ।
इस नृत्य नाटिका का संगीत पंडित ज्वाला प्रसाद जी द्वारा रचित था और इस अद्भुत प्रेम कहानी के लेखन में कुमारी गुॅंजन ने साथ दिया।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.