वार्ड 22 की मार्किट के लोग टैंकर का पानी पीने को मजबूर

0
377

चण्डीगढ़

13 मई 2022

दिव्या आज़ाद

सेक्टर 32-डी की मार्किट में लगा सार्वजानिक पानी का नल निगम इसलिए उखाड़ कर ले गया क्योंकि उसका आजतक का बिल 60 हज़ार रूपए का आया था। बूथ वेलफेयर एसोसिएशन, सेक्टर 32 के प्रधान जगदीप महाजन ने कहा कि चूँकि पानी के इस नल का अकाउंट ट्रेडर्स एसोसिएशन के नाम से है इसलिए बिल इसी एसोसिएशन के नाम से आना था और नगर निगम ने नोटिस भी इसी एसोसिएशन को देना था। परन्तु ट्रेडर्स एसोसिएशन और यहाँ की पार्षद के नज़दीकी सम्बन्ध होने के कारण निगम यह नोटिस देने में हिचकिचा रहा है। इसका नतीजा यह हुआ कि लोग इस भीषण गर्मी में अपनी प्यास बुझाने में असमर्थ हैं और जैसे तैसे टैंकर के पानी से अपनी प्यास बुझाने का प्रयत्न कर रहे हैं। महाजन ने आरोप लगाया कि वार्ड नंबर 22 (सेक्टर 31, 32 व 33) की पार्षद आम आदमी पार्टी की हैं। नगर निगम में चुनावों से पहले आम आदमी पार्टी ने चंडीगढ़ के निवासियों से वायदा किया था कि सत्ता में आने पर लोगों को 20 हज़ार लीटर पानी मुफ्त दिया जायेगे।

यहाँ यह बताना अनुचित नहीं होगा कि आम आदमी पार्टी को निगम चुनावों में 14 सीटें मिली थी जो कि किसी भी अन्य पार्टी से अधिक सीटें थी। यहाँ पर यह बताना भी उचित होगा की वार्ड नंबर २२ की पार्षद भी आम आदमी पार्टी की टिकट से चुनाव जीत कर आयी हैं। इतना होने पर भी वार्ड 22 में सबसे अधिक अनियमितताएं हो रही हैं।आम आदमी पार्टी और ट्रेडर वेलफेयर एसोसिएशन सेक्टर 32 की गहरी सांठगाँठ के चलते नगर निगम ने सेक्टर 32-डी में लगे पानी के इस एकमात्र स्त्रोत्र को उखाड़ दिया। इसलिए यहाँ पर लोग और  दुकानदार नगर निगम की इस कार्यवाही से बहुत हैं और नगर निगम के विरुद्ध नारे लगा कर अपने रोष की अभिव्यक्ति की। जगदीप महाजन ने कहा कि यदि निगम ने 2-3 दिन में पानी के इस नल को नहीं लगाया तो लोग भारी संख्या में निगम के दफ्तर के बाहर रोष प्रकट करेंगे।
उन्होंने कहा कि वार्ड पार्षद इस कनेक्शन को बहाल करने के लिए बिलकुल भी प्रयास नहीं कर रहीं जो कि बेहद निंदनीय है। 

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.