राष्ट्रीय हिन्दू शक्ति संगठन चंडीगढ़ ने आर्थिक रूप से कमजोर एवं विधवा घरेलू सेविकाओं को वितरित किया महीने भर का राशन

0
191


चंडीगढ़

2 मार्च 2022

दिव्या आज़ाद

राष्ट्रीय हिन्दू शक्ति संगठन, चंडीगढ ईकाई ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की गरीब कल्याण अन्न योजना से प्ररेणा लेते हुए अपनी सामाजिक व जनकल्याणकारी निष्काम सेवाओं  की कटिबद्धता के चलते संगठन की प्रदेश संयोजक रश्मि पूनिया के निर्देशानुसार सेक्टर 31 की जरूरतमंद एवं विधवा घरेलू सेविकाओं (जिनको कोई भी वेतन सुविधा उपलब्ध नहीं है) को राशन वितरण अभियान के तहत एक महीने का राशन नि:शुल्क वितरित किया गया। इस अभियान के अंतर्गत संगठन के प्रदेश अध्यक्ष डॉ हिमांशु पुनिया तथा संगठन की प्रदेश महिला अध्यक्ष मोनिका भारद्वाज के नेतृत्व में  महिलाओं को राशन में आटा, चावल, चीनी, रिफाइंड तेल, चने की दाल, चायपती, नमक, मिक्स दाल आदि जैसे जरूरी सामान उपलब्ध कराया गया।  संगठन के इस नेक काम में संगठन के महामंत्री आदित्य ने पूरी निष्ठा ,ईमानदारी से भरपूर योगदान दिया।

इस मौके पर राष्ट्रीय हिन्दू शक्ति संगठन, चंडीगढ़ प्रदेश अध्यक्ष डॉ हिमांशु पुनिया तथा महिला अध्यक्ष मोनिका भारद्वाज ने बताया कि संगठन के द्वारा पिछले दो सालों से हर महीने गरीब व जरूरतमंद लोगों  को मासिक राशन वितरण किया जाता है। संगठन  ऐसे अपने  जरूरतमंद भाई-बहनों की हरसंभव मदद करने को हमेशा तत्पर, तैयार व कटिबद्ध  है । उन्होंने बताया कि इन घरेलू सेविकाओं  ने कुछ समय पूर्व अपनी आर्थिक परेशानियों से संगठन के पदाधिकारियों को अवगत करवाया था, जिसपर संगठन द्वारा चलाये जा रहे गरीब राशन वितरण अभियान के तहत इन महिलाओं की सहायता की गई।

डॉ हिमांशु पुनिया ने बताया कि शहर में आर्थिक तंगी से जूझ रहे लोगों की संख्या बहुत अधिक  है जिसके लिए संगठन ऐसे परिवारों से स्वयं मिलकर प्रति माह उन्हें राशन मुहैया करवाता है जो कि समाज के लिए हमारा एवं हमारे संगठन का दायित्व है । उन्होंने कहा कि कोई भी गरीब और जरूरतमंद कभी भी संगठन से  सहायता के लिए संपर्क कर सकता है। संगठन भविष्य में भी समाज की सेवा के लिए अपनी कटिबद्धता को निर्वाह करता रहेगा। उन्होंने बताया कि महाशिव रात्रि पर संगठन द्वारा मौलीजागरां में दूध की छबील लगाकर अपने दायित्व का निर्वाह किया था।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.