“व्हाइट कॉलर क्राइम- वित्तीय धोखाधड़ी और समर्थन” पर एक पैनल चर्चा का आयोजन

0
269

चण्डीगढ़

18 जून 2022

दिव्या आज़ाद

ऑल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन के चण्डीगढ़ चैप्टर सीएमए (चण्डीगढ़ मैनेजमेंट एसोसिएशन) ने “व्हाइट कॉलर क्राइम – वित्तीय धोखाधड़ी और समर्थन” पर एक पैनल चर्चा का आयोजन किया। पैनल में पंजाब पुलिस के एआईजी जसदीप सिंह (पीपीएस), क्रॉस चेक कंसल्टेंट्स के संस्थापक जोगेश्वर प्रताप सिंह और क्षेत्रीय प्रमुख धोखाधड़ी नियंत्रण इकाई, एक्सिस बैंक की धोखाधड़ी नियंत्रण इकाई के क्षेत्रीय प्रमुख हरजीत सिंह शामिल थे। परिचर्चा का संचालन एलएंडटी के एसोसिएट प्रिंसिपल/निदेशक अभिषेक गुप्ता, जो सीएमए के महासचिव भी हैं, ने किया।

जसदीप सिंह ने अपने विशाल अनुभव से साइबर चोरों द्वारा अपनाए गए विभिन्न तौर-तरीकों को साझा किया।उन्होंने एटीएम चोरी, क्रिप्टोकरेंसी में शामिल जोखिमों और फ़िशिंग के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने साइबर अपराधियों को पकड़ने की दिशा में की गई पहलों के बारे ने बताते हुए जानकारी दी कि किसी भी साइबर हमला होने कि दशा में साइबर हेल्पलाइन नंबर 1930 पर सूचना दी जनि चाहिए। पूर्व बैंकर जोगेश्वर प्रताप सिंह, जो लोगों को सुरक्षित के लिए परामर्श सेवाएं दे रहे हैं व वित्तीय लेनदेन और वित्तीय धोखाधड़ी के शिकार लोगों को बैंक सहायता प्राप्त करने में मदद कर रहे हैं, ने उपभोक्ता की वित्तीय जानकारी की भेद्यता के बारे में अपने विचार साझा किए। पैनलिस्ट हरजीत सिंह ने वित्तीय नुकसान के समाधान में लोकपाल की भूमिका पर बल दिया। उन्होंने ऑनलाइन वित्तीय लेन-देन, साइबर हमलों और डज़ ओर डोनट्स के बारे में भी बताया।
सीएमए के अध्यक्ष गुरसिमरन सिंह ओबेरॉय ने पैनलिस्टों को सम्मानित किया। इस अवसर पर सीएमए के नवनियुक्त संरक्षक प्रो. जे.पी.एस. निन्दरा, सलाहकार व सीएमए के पूर्व अध्यक्ष दीपक ढींगरा, उपाध्यक्ष रजनीश मित्तल, संयुक्त सचिव डॉ. नवजोत कौर, जतिंदरपाल सिंह सहदेव, सुखविंदर सिंह उप्पल और अशोक गोयल आदि भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.