राष्ट्रपति के अधिवेशन की तैयारियों के लिए श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ की पांच राज्यों की बैठक सम्पन

0
380

चंडीगढ़

30 जनवरी 2021

दिव्या आज़ाद


संत शिरोमणि श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं चंडीगढ़ प्रदेश के प्रभारी कुलदीप मेहरा ने जानकारी दी कि आज संत शिरोमणि गुरु रविदास विश्व महापीठ की पाँच  राज्यों की राष्ट्रीय पदाधिकारियों  की बैठक जिसमें जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा एवं चंडीगढ़ शामिल थे डॉ०अम्बेडकर भवन, सेक्टर 37A, चंडीगढ़ में हुई। बैठक की अध्यक्षता श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष रविदासाचार्य श्री सुरेश राठौर ने की। उन्होंने इस बात को लेकर चर्चा कि की संत शिरोमणि श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ के चौथे राष्ट्रीय अधिवेशन 21 फ़रवरी को महामहिम राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द जी मुख्य अतिथि होंगे उस अधिवेशन को किस प्रकार से ओर अधिक भव्यता से किया जाये क्योंकि इस अधिवेशन में देशभर के रविदासी जाटव समाज के प्रतिनिधि, साधू-संत, महात्मा एवं डेरा प्रमुख शामिल होंगे। इस बैठक में परम पूजनीय श्रीमहंत परषोतम लाल जी महाराज देहरा चक हकीम फगवाड़े वाले विशेष तौर से पहुँचे थे साथ ही पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं महापीठ के अंतराष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री विजय सांपला जी भी पहुंचे। वहीं चंडीगढ़ महापीठ के अध्यक्ष जसवीर सिंह मेहता एवं उनकी टीम ने चंडीगढ़ पहुँचने पर  सभी पदाधिकारियों को श्री गुरु रविदास जी का चित्र भेंटकर सरोपा पहनाकर स्वागत किया।


बैठक को आगे बढ़ाते हुए महापीठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेश राठौर जी ने बताया कि कैसे संत शिरोमणि श्री गुरु रविदास जी महाराज का महत्व अपने आप में ही अति सर्वोत्कृष्ट है चूँकि आप देखें कि श्री गुरु ग्रँथ साहिब में हमारे श्री गुरु रविदास जी की सबसे ज्यादा वाणियाँ सुशोभित है। इतना ही नहीं जिन गुरु जी को स्वयं गंगा मैया प्रकट होकर कंगन भेंट करें सोचिए वह कितने महान संत गुरु एवं भगवान स्वरूपी अवतार है। राठौर जी ने संत गुरु रविदास जी की कहानी सुनाई कि कैसे मीरा और कमाली जी को गुरु रविदास जी से साक्षात ज्ञान प्राप्त करवाया था। 


महापीठ के संगठन महामंत्री एवं केंद्रीय सामाजिक न्याय आधिकारिक मंत्रालय में सदस्य श्री सूरजभान कटारिया ने कहा कि हमारी महापीठ का चौथा राष्ट्रीय अधिवेशन है जो विज्ञान भवन दिल्ली में 21 फरवरी को होगा जहाँ महामहिम राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी मुख्यतिथि रहेंगे। ऐसा पहली बार होगा जब देश के राष्ट्रपति श्री गुरु रविदास जी जुड़े किसी धार्मिक संगठन के कार्यक्रम में मुख्यातिथि होंगे। इस अधिवेशन के लिए विश्वमहापीठ के पदाधिकारियों ने हरियाणा के राज्यपाल महामहिम श्री सत्यदेव नारायण आर्य जी को 21 फरवरी दिल्ली में होने वाले श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ के अधिवेशन का निमंत्रण दिया।
इस पाँच राज्यों की बैठक में परम पूजनीय श्रीमहंत परषोतम लाल जी महाराज देहरा चक हकीम फगवाड़े वाले, महापीठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं जवालापुर से विधायक रविदासाचार्य श्री सुरेश राठौर, पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं महापीठ के अंतराष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री विजय सांपला, महापीठ के संगठन महामंत्री एवं केंद्रीय सामाजिक न्याय आधिकारिक मंत्रालय में सदस्य श्री सूरजभान कटारिया, हिमाचल प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री एवं महापीठ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ० राजीव सहजल, महापीठ के राष्ट्रीय महामंत्री एवं शिमला यूनिवर्सिटी में कुलपति डॉ० सिकंदर कुमार, महापीठ के राष्ट्रीय महामंत्री एवं अनुसूचित जाति आयोग के पूर्व चैयरमेन राजेश बाघा, राष्ट्रीय प्रवक्ताओं में कुलदीप मेहरा, सर्बजीत सिंह कड़ियाना, जसवंत पठानियां। अध्यक्षों में जम्मू कश्मीर के अध्यक्ष जीत अंगराल, हिमाचल के अध्यक्ष बलबीर बग्गा, पंजाब के अध्यक्ष मंजीत बाली, हरियाणा के अध्यक्ष हितेंद्र चौधरी, चंडीगढ़ के अध्यक्ष जसवीर सिंह मेहता सहित सभी पांचों राज्यों के महामंत्री एवं पदाधिकारी मौजूद रहें।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.