भगवान नरसिंह जयंती गौड़ीय मठ में धूमधाम से मनाई गई

0
107

चंडीगढ़

15 मई 2022

दिव्या आज़ाद

आज श्री चैतन्य गौड़ीय मठ सेक्टर 20 चंडीगढ़ में भगवान नरसिंह देव प्रकट जयंती बड़े हर्षोल्लास विधिपूर्वक मनाई गई , चैतन्य गौड़ीय मठ मंदिर के प्रवक्ता जयप्रकाश गुप्ता ने अपने वक्तव्य में कहा कि प्रात काल मंगला आरती के पश्चात संकीर्तन एवं बच्चों के विशेष प्रवचन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चंडीगढ़ मठ मंदिर के स्वामी बामन जी महाराज ने कहा कि आज ही के दिन भगवान श्री नरसिंह देव ने खंबे में से प्रकट होकर अपने प्रिय भक्त प्रह्लाद कि जीवन रक्षा कर राक्षस राज हिरण्यकशिपु का वध किया था। जिसे कि ब्रह्मा जी द्वारा वरदान प्राप्त था की उसे कोई भी नर या पशु, अस्त्र शस्त्र ,घर के अंदर या बाहर, नहीं मार सकेगा बालक भक्त प्रह्लाद के ऊपर तरह-तरह के अत्याचार कर रहा था कभी उसे सांपों से दंश लगवाता, कभी पहाड़ो से धकेल देता। लेकिन भक्त प्रल्हाद अपनी भक्ति पर अडिग रहकर भगवान का नाम का जप करते रहते थे भगवान सर्वशक्तिमान है। उन्होंने नर यानी मनुष्य ,सिंह यानी शेर, नरसिंह रूप धारण कर, अंदर या बाहर नहीं, घर की चौखट पर जांघों पर रखकर नाखून से हिरण्यकशिपु का वध कर, अपने प्रिय भक्त प्रहलाद की रक्षा की थी, मठ मंदिर में संध्या काल में भगवान नरसिंह देव का प्रकट महोत्सव के समय उन्हें पंचामृत से अभिषेक किया गया, फूलों की वर्षा की गई। भक्तजनों ने भगवान के प्रकट होने की खुशी में नृत्य गान संकीर्तन खूब धूमधाम से किया। आज भक्त जनों ने भगवान के प्रकट होने की खुशी में पूरा दिन उपवास रखा तत्पश्चात सैकड़ों भक्तों को भगवान को अर्पित फलाहार प्रसाद वितरित किया गया।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.