यूटी क्रिकेट एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने की बदनौर से मुलाकात

0
461

चण्डीगढ़

30 जुलाई 2019

दिव्या आज़ाद

यूटी क्रिकेट एसोसिएशन को बीसीसीआई द्वारा मान्यता प्रदान करने पर चण्डीगढ़ क्रिकेट इतिहास में 26 जुलाई, 2019 को नया अध्याय जुड़ गया है। इस मान्यता मिलने के साथ ही टीम इंडिया में खेलने का शहर के हजारों युवाओं का सपना अब पूरा होना जा रहा है। यूटी क्रिकेट एसोसिएशन का एक प्रतिनिधिमंडल एसोसिएशन के प्रेसिडेंट संजय टंडन के नेतृत्व में पंजाब के महामहीम राज्यपाल और प्रशासक यूटी चण्डीगढ़ वी पी सिंह बदनौर से मिला और चण्डीगढ़ को मान्यता प्रदान करवाने में उनके प्रयासों के चलते उनको फूलों का गुलदुस्ता भेंट कर धन्यवाद किया। प्रतिनिधिमंडल में एसोसिएशन के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट हरि सिंह खुराना व विवेक अत्रे, जनरल सेक्रेटरी सुभाष महाजन और जॉइंट सेक्रेटरी सचिव आलोक कृष्ण शामिल थे।

एसोसिएशन के प्रेसिडेंट संजय टंडन ने बताया कि प्रशासक यूटी चण्डीगढ़ वी पी सिंह बदनौर से मिलकर उनका विशेष धन्यवाद किया। यूटीसीए को बीसीसीआई की मान्यता दिलवाने में श्री बदनौर का बहुत बड़ा योगदान रहा है। जिसका वह तहदिल से धन्यवाद करते हैं साथ ही उन्होंने सैक्टर 16 के क्रिकेट स्टेडियम को यूटीसीए को सौंपने के लिए आग्रह भी किया ताकि आने वाले वर्षों में बेहतर सुविधा बनाई जा सके।

यूटीसीए को बीसीसीआई की मान्यता दिलवाने में जो संर्घष करना पड़ा उसके बारे में बताते हुए संजय टंडन ने कहा कि वर्ष 1982 में यूटीसीए की स्थापना हुई थी तभी से यूटीसीए को बीसीसीआई की मान्यता दिलाने के लिए जमीनी स्तर के साथ-साथ कानूनी लड़ाई भी लड़ी। लम्बा संघर्ष करने की बाद आज हमारे प्रयासों को सफलता मिली है। हम तीन दशकों से इस दिन का इंतजार कर रहे थे कि शहर के प्रतिभावान खिलाडिय़ों को ज्यादा से ज्यादा खेलने का मौका मिले।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.