वर्ल्ड डी एडिक्शन डे के उपलक्ष में “नशे से मुक्ति” नुक्कड़ नाटक का आयोजन

0
68

चण्डीगढ़

23 जून 2022

दिव्या आज़ाद

वर्ल्ड डी एडिक्शन डे के उपलक्ष में एनजीओ वूमेन एंड चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी, सेक्टर 45-डी  के बैनर के तले बुड़ैल गांव सेक्टर 45 में  “नशे से मुक्ति” नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया।


इस अवसर पर कैग के पूर्व महानिदेशक नंदलाल बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए इनके साथ बतौर गेस्ट ऑफ ऑनर एसएचओ सेक्टर 34 थाना दविंदर सिंह , एरिया काउंसलर व एक्स डिप्टी मेयर कंवर राणा, ओमप्रकाश पुशपारकर, हरकेश राणा, नरसिम्हा, बृजमोहन महिंद्र, बुड़ैल चौकी इंचार्ज सुदेश, हाईकोर्ट एडवोकेट अजय कौशिक, ओमप्रकाश मेहरा, राजन बत्रा, नरेश कोहली, इंद्रजीत शर्मा व प्रकाश सैनी आदि भी उपस्थित रहे।

मुख्य अतिथि नंदलाल ने कहा कि नशा एक दीमक की तरह होता है जो कि इंसान की जिंदगी को अंदर से खोखला कर देता है। पूजा बक्शी ने कहा इंटरनेशनल ड्रग एब्यूज डे सारे विश्व में मनाया जा रहा है और हर देश  अपनी तरफ से नशे से युवाओं को दूर रखना चाहता है ।
आए हुए पुलिस अधिकारी ने कहा अगर किसी को सहायता की जरूरत हो तो वह हमसे भी संपर्क कर सकते हैं, हम भी उनकी सहायता करते हैं। इस अवसर पर संस्था के जर्नल सेक्रेटरी अजय गुप्ता, राकेश कुमार, सुदेश, मनसा, जसपाल व अन्य भी उपस्थित रहे।
नाटक का निर्देशन चण्डीगढ़ आर्ट थिएटर ग्रुप के डायरेक्टर रंजीत राय ने किया जिसकी कहानी कुछ इस तरह है कि नशा हमारे जीवन में सबसे बड़ा कलंक है और अपराध में इसका अहम किरदार है। एक व्यापारी है जो नशे का व्यापार करता है। उसका मकसद है कि पूरे शहर में उसका नशा बिके। उसका बेटा भी इस चपेट में आ जाता है व इस वजह से उसके बेटे की मौत हो जाती है और उसको दुख होता है कि मैं जो व्यापार कर रहा था उसमें मेरा बेटा भी चला गया।


फिर एक नशे का भूत आता है जो कहता है कि मैं नशा फैला दूंगा, जिंदगी बर्बाद कर दूंगा और बहुत सारे लोग मर जाते हैं। एक बच्चा उठता है और वह नशे की मांग करता है लेकिन उसको नहीं मिल पाता। एक जागरूक व्यक्ति उसको इलाज के लिए ले जाता है। उसका इलाज होता है और उसका जीवन सही हो जाता है व उसको नशे से मुक्ति मिल जाती है और वह बहुत ही आभारी रहता है।


कलाकार:- रंजीत रॉय, संदीप, शिवानी ,मनु, रमन, प्रिया, अनुज, अभिनय, लवप्रीत ,प्रिंस और युवराज ने अभिनय किया।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.