नेत्रहीन बच्चों के मनोरंजन के साथ होगी नए साल की शुरुआत

0
1015

नूरां सिस्टर्स, बब्बू मान, अली ब्रदर्स देंगे प्रस्तुति 

चंडीगढ़

28 दिसंबर 2017

दिव्या आज़ाद

नए साल 2018 की शुरुआत नेत्रहीन बच्चों के मनोरंजन के साथ की जाएगी. सेक्टर-51 में रेसिडेंट्स वेलफेयर एसोसियशन की अध्यक्ष मंजीत कौर ने प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में आज यहां यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि 31 दिसंबर को सेक्टर-51 में शाम छह बजे से नेत्रहीन बच्चों की मौजूदगी में नए साल के लिए उत्सव की शुरुआत होगी और नए साल के शुरू होने के साथ ही समारोह में आये सभी लोगों को 12. 05 बजे अपने परिवेश को साफ़-सुथरा रखने के लिए स्वच्छता की शपथ दिलाई जाएगी.

मंजीत कौर ने बताया कि एसोसिएशन की तरफ से सेक्टर-26 के नेत्रहीन स्कूल में दो कमरे बनवाये जाएंगे. स्कूल में बिस्तरों की व्यवस्था कराई जाएगी. ग्रीन बेल्ट स्थापित की जाएगी और स्कूल को 1.50 रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी. भेदभाव से मुक्त समाज की परिकल्पना करते हुए उन्होंने कहा कि वसुधैव कुटुंबकम की विचारधारा को फ़ैलाने की जरूरत है. नए साल पर ऐसी एकजुटता का परिचय दिया जायेगा.

नेत्रहीन बच्चों के कल्याण के मकसद से आयोजित किये जा रहे इस समारोह में नूरां सिस्टर्स, अली ब्रदर्स, पिंकी मोगेवाली, बब्बू मान, बेनीपाल सिस्टर्स और लवदीप सूफियाना कलाम, लोकगीत, गिद्दा और भंगड़े की प्रस्तुति दे कर मनोरंजन करेंगे. उन्होंने कहा कि संस्था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से चलाये जा रहे स्वच्छता अभियान को गति देने के प्रयास और तेज करेगी.

मंजीत कौर ने कहा कि उनके सेक्टर-51 का पार्क पिछले दो साल से चंडीगढ़ प्रशासन की तरफ से आयोजित रोज फेस्टिवल में पहला स्थान हासिल करता आ रहा है. इस संस्था को चंडीगढ़ पर्यावरण सोसाइटी ने भी पुरस्कृत किया है. एसोसिएशन ने लोगों की सुरक्षा के लिए सेक्टर में सीसीटीवी कमरे भी लगवाए हैं.

सेक्टर-51 में रसोई के गीले कचरे को खाद में बदलने के प्रबंधन की जानकारी देते हुए मंजीत कौर ने बताया कि चंडीगढ़ के किसी भी सेक्टर में यह अपनी तरह की पहली कोशिश है. इसके लिए हरेक ब्लॉक में एक खाद बनाने का यंत्र लगाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि उनकी असोसिएशन दूसरे सेक्टरों की वेलफेयर एसोसिएशनों को भी लोक भलाई के कार्यों में अपने साथ जोड़ने के प्रयास करेगी. इस मौके पर डॉ. सी. एस. गर्ग, सर्वप्रिय निर्मोही, अरविन्द गुप्ता और अशोक सेठ भी मंजीत कौर के साथ मौजूद थे.

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.