चंडीगढ़ प्रशासन मलोया में पुनर्वास करने में किस बात की देरी कर रहा है: तिवारी 

0
776

चंडीगढ़

1 फरवरी 2019

दिव्या आज़ाद

चंडीगढ़ कांग्रेस महासचिव शशि शंकर तिवारी ने कहा कि चंडीगढ़ प्रशासन एवं चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड ने कॉलोनी नंबर 4 के लोगों में 10 साल पहले 900 रू. जमा करवाए थे। अब जनवरी 2019 में 6000 रु. और जमा करवाएं हैं और मकान भी बनकर बिल्कुल तैयार हैं। कॉलोनीवासी भी अब आस लगाए बैठे हैं कि चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड कब उन्हें आवास अलॉट करेगा क्योंकि स्कूली बच्चों के पेपर शुरू होने वाले हैं एवं झुग्गियों के अंदर में ज़्यादातर संख्या यूपी बिहार की है जो मार्च अप्रैल से गांव में शादियां शुरू हो जाती हैं जिसमें लोग काफी संख्या में चले जाते हैं।

चंडीगढ़ के फाइनेंस सेक्रेटरी एवं हाउसिंग बोर्ड चेयरमैन ऐ. के. सिन्हा ने भी समाचार पत्रों में प्रकाशित करवा चुके हैं कि मलोया में सब कुछ तैयार है। फिर देर किस बात की। तिवारी ने कहा कि लगता है कि प्रशासन भाजपा के दवाब में काम कर रहा है और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आने का इंतज़ार कर रहे हैं जो कि गरीबों के साथ नाइंसाफी हो रही है। शशि शंकर तिवारी ने कहा कि भाजपा के कार्यकाल के 5 साल पूरे होने जा रहे हैं। लाखों लोगों को सपना दिखाया था कि सबको मकान मिलेगा।

कांग्रेस के समय भारत के पूर्व प्रधानमंत्री सरदार मनमोहन सिंह एवं चंडीगढ़ के पूर्व संसद पवन कुमार बंसल के प्रयासों से 5 हज़ार मकान बनकर तैयार हैं लेकिन उन मकानों को पुनर्वास करने के लिए न तो भाजपा संसद किरण खेर के पास समय है और प्रधानमंत्री के नाम पर काफी समय से लोगों को मूर्ख बनाया जा रहा है कि प्रधानमंत्री आकर इसकी चाबी देंगे।
तिवारी ने कहा कि इन मकानों को चंडीगढ़ प्रशासन अविलंब एक मजदूर से उदघाटन करवा कर लोगों का जल्द से जल्द पुनर्वास किया जाए क्योंकि अब कॉलोनीवासियों के सबर का बांध टूट चुका है। अगर नहीं हुआ तो चंडीगढ़ कांग्रेस समस्त कॉलोनीवासियों को लेकर भाजपा सांसद का घेराव करेगी।

तिवारी ने सांसद को याद दिलाते हुए कहा कि उन्होंने कहा था कि बायोमेट्रिक सर्वे 2006 के बाद जितने झुग्गी- झोपड़ी वाले हैं उनको मैं दुबारा सर्वे करवा कर सबको मकान दिलाऊंगी। कॉलोनीवासियों से झूठे वादे करके 2014 में वोट ले लिए लेकिन कॉलोनीवासियों के लिए कुछ नहीं किया।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.