कालका मेल में हो रही पार्सल चोरी से परेशान व्यापारियों ने रेलवे प्रशासन के खिलाफ किया धरना-प्रदर्शन 

0
174
चण्डीगढ़
20 दिसंबर 2018
दिव्या आज़ाद
कालका हावड़ा मेल के एसएलआर से लाखों रुपये का माल रेलवे की मिलीभगत से पिछले कई वर्षों से चोरी हो रहा है। व्यापारी परेशान होकर रेलवे स्टेशन चंडीगढ़ व डीआरएम ऑफिस, अम्बाला से लेकर रेल मंत्रालय, दिल्ली तक चक्कर लगाते रहते हैं परन्तु कोई सुनवाई नहीं हो रही। हताश व परेशान व्यापारियों ने आज आखिर मजबूर होकर चण्डीगढ़ रेलवे स्टेशन के निदेशक के कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया व जोरदार नारेबाजी की।

उल्लेखनीय है गत 15 दिसंबर को चण्डीगढ़ से हावड़ा के लिए 25 बण्डल ह्यूमन हेयर के बुक हुए थे जिसमें से 18 बण्डल हावड़ा पहुंचे तथा 7 गायब हो गए। इससे पहले 21 नवम्बर 2018 को 42 बण्डल ह्यूमन हेयर बुक किए थे जिसमें से 29 बण्डल हावड़ा पहुंचे तथा 13 गायब थे। पिछले साल अक्टूबर में भी 14 बण्डल चोरी हो गए थे। बार- बार शिकायत करने के बाद भी रेलवे प्रशासन ने पार्सलों की सुरक्षा का कोई प्रबंध नहीं किया। पार्सल कहाँ और कैसे चोरी होता है इसके बारे में भी रेलवे को कोई जानकारी नहीं है। इस सन्दर्भ में शिकायतकर्ता डी. पी. दुबे ने जब स्टेशन डायरेक्टर से शिकायत की तो उनका कहना था कि जहाँ चोरी हुई है वहां जाकर शिकायत करो।


विगत 14 महीने में लगभग 50 लाख के ह्यूमन हेयर चोरी हो गए जो कि 12 छोटे – छोटे व्यापारियों से लेकर हावड़ा भेजा गया था। यह सभी व्यापारी इतना आर्थिक नुकसान उठाने कि स्थिति में नहीं हैं तथा रेलवे कि लापरवाही के कारण इनके परिवार सड़क पर आ गए हैं।
धरना-प्रदर्शन कर रहे व्यापारियों ने रेल मंत्री से मांग की कि रेलवे में हो रही चोरियों कि निष्पक्ष जांच कराई जाए तथा दोषी एवं लापरवाह रेलवे कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही कि जाए।

डायरेक्टर हरिदीप कुमार ने मौके पर पहुँच कर धरनारत व्यापारियों से मुलाकात करके उनसे ज्ञापन लिया व आश्वासन दिया कि वे उनकी मांगों को ऊपर के अधिकारियों एवं मंत्रालय तक पहुँचाएगे तथा स्थानीय स्तर पर भी ऐसी घटनाओं की रोकथाम के लिए उचित कदम उठाएंगे।

इस पर व्यापारियों ने एक सप्ताह का समय देते हुए कहा कि यदि इन चोरियों की वारदात करने वालों की गिरफ्तारी , सामान की बरामदगी व आगे से घटनाओं की रोकथाम के पुख्ता उपाय ना होने पर डीआरएम, अम्बाला के कार्यालय का घेराव किया जाएगा व आगे की रणनीति तय की जाएगी।

आज के इस रोष प्रदर्शन में मुख्य रूप से शिकायतकर्ता डी पी दुबे के अलावा जेडआरयूसीसी ( जोनल रेलवे यूज़र्स कंसल्टेटिव कमेटी ) के सदस्य भीमसेन अग्रवाल व पूर्व सदस्य शशिशंकर तिवारी के साथ-साथ हरिशंकर मिश्रा, नरेंद्र पांडे, दीदयाल त्रिपाठी, चमनलाल, पप्पू शुक्ला, नन्द कुमार यादव, दीपचंद यादव व राजीव पांडे आदि भी शामिल हुए।

टंडन व बंसल से मिला प्रतिनिधिमंडल 

बाद में ये सभी नेतागण स्थानीय भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन एवं पूर्व केंद्रीय रेलवे मंत्री पवन बंसल से भी मिले व उन्हें अपनी समस्या से अवगत कराया जिस पर इन्होने व्यापारियों को आश्वासन दिया कि वे इस मुद्दे को सम्बंधित व जिम्मेदार अधिकारियों व मंत्रालय के समक्ष उठाएंगे व समस्या हल कराएंगे।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.