आँचल इंटरनेशनल स्कूल, सैक्टर 41, चण्डीगढ़ ने अपना वार्षिक दिवस -’एक्सप्रेशन 2019‘ मनाया

0
84

चण्डीगढ़

30 नवंबर 2019

दिव्या आज़ाद

आँचल इंटरनेशनल स्कूल, सैक्टर 41, चण्डीगढ़ ने आज शिवालिक पब्लिक स्कूल, मोहाली के ऑडिटोरियम में अपना वार्षिक दिवस -’एक्सप्रेशन 2019‘ मनाया। यह दिन बड़े ही धूम धाम से मनाया गया। यह अवसर श्री न्यायमूर्ति एस एस एस बेदी (रिटायर्ड), चैयरमैन वैट ट्रिब्यूनल पंजाब की उपस्थिति में आयोजित किया गया था। मुख्य अतिथि और अन्य अतिथियों का पारंपरिक तरीके से स्कूल कप्तान तेजबीर सिंह और उप कप्तान काश्वी कालरा द्वारा तिलक लगाकर स्वागत किया गया और उसके बाद औपचारिक दीप प्रज्ज्वलन किया गया।

वार्षिक स्कूल रिपोर्ट प्रिंसीपल द्वारा प्रस्तुत की गई जो छात्रों की उपलब्धियों और पिछले वर्ष के दौरान महत्वपूर्ण प्रगति को सामने लाती है। उन्होंने भविष्य के दृष्टिकोण पर अपने विचारों के साथ सभा को संबोधित किया और छात्रों को जीवन में लक्ष्य को परिभाषित करने की आवश्यकता से अवगत कराया। समारोह की शुरूआत वंदना से हुई जिसमे गणेश वंदना, शिव स्तुती और कृष्ण लीला से देवताओं से आशीर्वाद की कामना की गई।
फिर त्यौहार जैसे कई गीतों पर जैसे ‘‘होली के दिन दिल खिल जाते’’, ‘‘अस्लामवलैकूम’’, ‘‘दीवाली आई रे’’ जैसे कई गीतों पर प्राथमिक खंड के बच्चे अपने पैरों पर थिरकते हुए आए जो अविस्मरणीय और सदाबहार है। उज्ज्वल जीवंत रंगो में युवा बच्चों ने इन नंबरों पर सराहनीय प्रदर्शन किया और हर एक को मंत्रमुग्ध कर दिया। छात्रों ने कन्या भ्रूण हत्या के बारे में सोचा समझा मुद्दा पेश करते हुए दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसने सभी को एहसास दिलाया कि लड़की हर जीवनशैली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और उन्हें बचाने की जरूरत है।
शाम के मुख्य आकर्षण में से एक ‘नारी शक्ति’ पर एक नृत्य प्रदर्शन, जिसने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया और एक मजबूत संदेश दिया कि लड़की जीवन के सभी क्षेत्रों में लड़को की तुलना में बेहतर है और अपने निर्णय लेने के लिए पर्याप्त मजबूत है और बिना किसी की मदद के अपने सभी कर्त्तव्यों का पालन कर सकती है।
प्री – नर्सरी के नन्हें छात्रों ने आत्मविश्वास के साथ मंच पर कदम रखा और उन्होंने कविता का विषय ‘नेचर और हैप्पीनस’ के ऊपर प्रदर्शन किया। एलकेजी और यूकेजी के बच्चों ने अपने प्रदर्शन से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया जिसमें उनका उत्साह साफ दिखाई दे रहा था।
आँचल का आदर्श वाक्य छात्रों का सर्वांगीण विकास है और इसे छात्रों द्वारा योग और ताइक्वांडो के माध्यम से प्रदर्शित किया गया।यह तकनीकें शक्ति सटीकता ताल और शक्ति के संयोजन है जो छात्रों द्वारा मार्शल आर्ट और आसन के प्रदर्शन के दौरान देखी गई थी। छात्रों ने दर्शकों का आश्चर्यचकित कऱ दिया। जब उन्होंने ह्यूमन पिरामिड का निर्माण किया और टाइल्स को तोड़ दिया।
दर्शकों की मनोदशा को हल्का किया गया जब स्निपेट्स की एक श्रृँखला में दिन-प्रतिदिन जीवन की घटनाओं के साथ स्थितियों का मंचन किया गया जिसके साथ हर कोई सहसबद्ध हुए और हँसे।
दर्शक मंत्रमुग्ध हौकर रह गया जब छात्रों ने फैशन शो का प्रदर्शन किया, जिसमें चार मौसम गर्मी, सर्दी, बसंत और मानसून शामिल थे।
जब संगीत, ताल और नृत्य के संयम के माध्यम से सांस्कृतिक उत्साह का इंद्रधनुष सामने आया तो पूरा माहौल उत्साह से गंूजने लगा।

संगीत ताल और नृत्य के मिश्रण के माध्यम से सांस्कृतिक कार्यक्रम के इंद्रधनुष सामने आने पर पूरा माहौल उत्साह के साथ गूंजता रहा। थिरकते हुए पैरों के साथ पंजाब के उत्साही लोकगीत भांगड़ा के साथ कार्यक्रम अपने अंतिम पड़ाव पर तेजी से पहुँचा। सुंदर प्रतिध्वनि के साथ दिन समाप्त हुआ।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.